"जोधपुर के चामुंडा माता मंदिर में मची भगदड़ में मारे गए सवा दो सौ लोग अपनी मौत के लिए खुद ही जिम्‍मेदार थे। उत्तर भारतीय अनुशासनहीन होते हैं, इसी वजह से यह हादसा हुआ है।" ... यह मानना है अपने बयानों से अक्‍सर विवादों में रहने वाले राजस्‍थान के राज्‍यपाल एस. के. सिंह का। राज्‍यपाल प्रदेश सरकार और पुलिस की लापरवाही से भी नाराज हैं। उन्‍होंने सवाल खड़ा किया कि दक्षिण में तिरुपति मंदिर, मीनाक्षी मंदिर हैं, लेकिन वहां ऐसा नहीं होता। उनका कहना है कि उत्तर भारतीय अनुशासनहीन होते हैं। उनकी धक्का-मुक्की की आदत होती है। ऐसे में मंदिर में भगदड़ मचना कोई बड़ी बात नहीं है।

अब सवाल यह है कि क्‍या दक्षिण के तिरुपति मंदिर या दूसरे मंदिरों में चामुंडा माता मंदिर की तरह बीस हजार की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए महज सौ पुलिसकर्मी तैनात होते हैं। क्या उन मंदिरों में बड़े मौकों पर एंबुलेंस या मेडिकल कैंप सुविधा नहीं होती है। या फिर उन मंदिरों में भी भीड़ को छोटे-छोटे समूह में दर्शन के बजाय एक साथ जाने दिया जाता है। अगर सरकार ने यह सब नहीं किया तो फिर भीड़ के अनुशासन से पहले सरकार जिम्मेदारी से कैसे बच सकती है। राज्यपाल को संवैधानिक पद पर रहते हुए अपने पद की गरिमा का ध्‍यान रखना चाहिए। यदि अपने पद की गरिमा का आप ध्यान नही रख सकते हैं तो आपको पद पर बने रहने का कोई अधिकार नही हैं। जनभावनाओं का ठेस पहुचाने के लिए राज्यपाल जी को माफ़ी माँगनी चाहिए।

एक बार दिल्ली में कहा गया। ...अब राजस्थान में। उधर महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों के खिलाफ़ ऐसा ही माहौल तैयार किया जा रहा है. ... और केंद्र सरकार अपने वोट बैंक और कुर्सी की खातिर इस प्रकार की असम्बैधानिक बयान बाजों के खिलाफ़ कुछ नहीं कर रही है... ऐसी बातें भविष्य में देश के बिभाजन के लिए एक पृष्ठभूमि तैयार कर रही है। इन बातो को भारत सरकार इतने हलके में कैसे ले सकती है??? इसे तो देश द्रोह के रूप में लेना चाहिए।

2 Comments:

Anonymous said...

माननीया राष्ट्रपति महोदया से जब भी मौका मिलेगा तो मै बात करुंगी और उन से कहुंगी की ऐसे गैर जिम्मेवार बयान देने वाले राज्यपाल को तुरंत वापस बुलाए।

मन्दीर मे ऐसे हादसो के लिए पुलिस, प्रशासन, मन्दीर व्य्वस्थापन को सीधे तौर पर जिम्मेवार बनाया जान चहिए।

Adams Kevin said...

म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
ठीक।