तलाश करो कोई तुम्हे मिल जायेगा.


मगर हमारी तरह तुम्हे कौन चाहेगा.

ज़रूर कोई चाहत की नज़र से तुम्हे dekhega ,

मगर आँखें हमारी कहाँ से लाएगा.





-----------------------------





समझा दो अपनी यादों को,

वो बिन बुलाये पास आया करती हैं.

आप तो दूर रहकर सताते हो मगर,

वो पास आकर रुलाया करती हैं.





The last day of this year






Thanks to those who hated me,

They made me a stronger person.




Thanks to those who loved me

They made my heart bigger.




Thanks to those who were worried about me

They let me know that they actually cared.




Thanks to those who left me

They made me realize that nothing lasts for ever.




Wish you an excellent 2012 with peace, prosperity and happiness.



From-

Ravi Srivastava

गुल ने गुलशन से गुलफाम भेजा है.

सितारों ने आसमां से सलाम भेजा है.

मुबारक हो आप को नया साल,

हमने दिल से ये पैगाम भेजा हैं.

उसके  बिन  चुप -चुप  रहना  अच्छा लगता  है.   

ख़ामोशी  से  एक  दर्द  को  सहना  अच्छा लगता  है.
जिस  हस्ती  की  याद  में  आंसू  बरसते  हैं.

सामने  उसके  कुछ  न  कहना  अच्छा  लगता  है.

मिलकर  उससे  बिछड़  न  जाये,  डरते  रहते  हैं.

इसलिए  बस  दूर  ही  रहना  अच्छा  लगता  है.

जी  चाहे  अपनी  सारी  खुशियाँ  लाकर  उसको  दे  दूं.

उसके  प्यार  में  सब  कुछ  खोना  अच्छा  लगता  है.

उसका  मिलना  न  मिलना  किस्मत  की  बात  है.

पल  पल  उसकी  याद  में  रहना  अच्छा  लगता  है.

उसके  बिना  सारी  खुशियाँ  अजीब  लगती  हैं.

रो  रोकर  उसकी  याद  में  सोना  अच्छा  लगता  है.

हमें प्यार जाताना न आया कभी,

बस  इतना  जानते  हैं कि,

उसको  चाहते  रहना  अच्छा  लगता  है.



स्रोत: अनजान

कितना  प्यार  है  उनसे  हमे,    उन्हें  ये  मैं  बताऊँ  कैसे.

दिल  में  बसे  हैं  वो  किस  कदर, इसे  चीर  कर  उन्हें  मैं  दिखाऊं  कैसे.    


उन्हें तो  फुर्सत  ही  नहीं  हमारे  प्यार के  लिए,  

और  उनकी  याद  में, ये हर  पल  मैं बिताऊं  कैसे.    

कितना प्यार है उनसे हमे, उन्हें ये मैं बताऊँ  कैसे.         



न  मिल  पाने  की  मज़बूरी,  बात  भी  तो नहीं होती  थोड़ी , 

अपने  इस  नादान  दिल को,  फिर  बोलो  मैं समझाऊं  कैसे.  



आँखों  में हर पल है वो, दिल-ओ -दिमाग  पे  वही  है छाए,      

कोई  जरा  बता  दे  मुझे , दिल-ओ-दिमाग से  उसे  मिटाऊं  कैसे.   



हाँ, दिल में बसे हैं वो इस कदर, इसे चीर कर उन्हें मैं दिखाऊं  कैसे     


 
स्रोत: अनजान
प्रत्येक जीवन में कुछ समस्याएं होती हैं। हमें अपनी खुशी की रचना करने के लिए और अपने पंख को पसारने के लिए निरंतर अपने जीवन को चलाना तथा प्रयास करना होता है। कभी-कभी खुद तय सीमा से ऊपर जाने के लिए प्रयास करने की आवश्यकता होती है।






जांच कीजिए कि अपने जीवन के सम्बंध में आप क्या महसूस करते हैं? आगे जाइए और जांचिए कि वे वास्तविक है या आप केवल उसकी कल्पना कर रहे हैं। एक बार जब हम अपनी सीमा को पहचानते हैं तब यह हम में से प्रत्येक पर है कि हम उससे ऊपर जाएं।






किस चीज को आप असंभव महसूस करते हैं या क्या-क्या बाधाएं या अवरोध हैं जिन पर कामयाबी हासिल करने की आवश्यकता है? इन सभी को पहचानें। आपको यह समझना होगा या तय करना होगा कि समस्या से लड़ना अधिक फायदेमंद होगा कि अपनी योग्यता को बढ़ाने से या अपने जीवन स्तर के विकास करने से।






खुश रहने का एक तरीका है कि आप जो भी करना चाहते हैं या कर रहे हैं, उसमें कम चिंता करें, आराम से करें। हमारे पास अपनी रचना है उसे हमें अधिकांश समय देना चाहिए। जबकि प्रतिकूल स्थिति किसी समय किसी वातावरण में हो सकती है। इसके लिए अपने आप को दोषी कभी नहीं मानें। यह आपके लम्बे समय की खुशी को नष्ट कर देगा।






दोषारोपण का खेल या गलती खोजने की आदत सिर्फ आपको तुच्छ बनाती है। आपको अपनी खुशी के लिए नकारात्मक प्रभाव से बचना होगा। आप अपनी आशा को कम मत कीजिए चाहे काले बादल आपके ऊपर मंडरा रहे हों। यदि भगवान आपको समस्या देता है तो वह इस समस्या से जूझने की ताकत भी देता है।






हम अपने जीवन में खुद जो प्राप्त करते हैं, वह हमारी सीमा है। कुछ व्यक्ति पुर्वानुमान से किसी कार्य को शुरू करते हैं कि यह कार्य नहीं हो सकता है यह उनके नाकारापन को साबित करता है। यह बहुत महत्वपूर्ण बात है कि समय किसी व्यक्ति का इंतजार नहीं करता है।






आप अपनी वर्तमान प्राथमिकताएं देखें और जांचें कि उनको पुन: व्यवस्थित करने की आवश्यकता है या नहीं। उसमें समय की व्यवस्था भी शामिल है। आपके पास अपने परिवार के साथ समय व्यतीत करने का भी समय होना चाहिए। बिना किसी बाह्य वातावरण के यह एक छोटा सा अंतरावलोकन हो सकता है और बिना अधिक पैसों से आया कि आप साधारण रूप से देख सकते हैं कि आप के पास नए प्रकाश तथा नए सम्बंध में क्या है? आप किसी रोग का उपचार नहीं कर सकते हैं यदि आप आधारभूत कारणों का उपचार नहीं करेंगे।






एक नया प्रयास और एक नई दृष्टिकोण आपको अपने जीवन में जहां आप कभी महसूस करते हैं उसे तय करने के योग्य बना सकता है। किसी चीज को बदलने के लिए कभी भी अपने आप को कमजोर न समझें। हमारी इच्छा किसी वस्तु का विकास नहीं करती है। जहां हम महसूस करते हैं कि उसका होना हमारे लिए अच्छा है उसके लिए हमें सकारात्मक कार्य करना होता है।






हम सभी जानते हैं कि हम हमेशा के लिए जीवित नहीं रहने जा रहे हैं। यह हमें महसूस करवाता है कि प्रत्येक दिन बहुमूल्य है। हमें अपना सबसे अच्छा अवश्य देना चाहिए तथा इस धरती पर जो भी समय हमें दिया गया है इसका आनंद लेना चाहिए।




खुशी, उत्साह, परमानंद, उमंग से परिपूर्ण जीवन का रहस्य इस पर निर्भर नहीं करता है कि आपके पास क्या-क्या वस्तु है या अपने समाज में क्या आनंद लिया है। यह इस पर निर्भर करता है कि जीवन में आपका प्रयास या दृष्टिकोण क्या है? अपने जीवन को अपने तरीके से जीना तथा आप जो चाहते हैं उसे करना आप कब चाहते हैं तथा प्रत्येक मिनट इसका एहसास होना इन सभी पर आपके जीवन की खुशी निर्भर करती है।

 
With Spl.Thanks to Josh18...