काश कभी होता यह मेरे अख्तियार में,
मैं रंग देता जान तुझे अपने प्यार में।
मैं इतना प्यार देता तुझे जान-ऐ-आरजू,
तुम ख़ुद को भुला देते मेरे ऐतबार में।

तुम जो कभी बुलाते मुलाकात के लिए,
बेचैन होके फिरते मेरे इंतज़ार में।
मैं देर से जो आता नाराज़ होके तुम,
हर बात का जवाब देते इनकार में।

तुम तो किसी बात पर मुझसे रूठ जाते,
मैं तुम्हे मनाता बड़े इसरार में।
मान कर तुम मुझसे सिर्फ़ यही कहते,
है यकीन नही कमी कोई तेरे प्यार में।

काश कभी होता यह मेरे इख्तियार में,
मैं रंग देता जान तुझे अपने प्यार में।

2 Comments:

Palak said...

hisaa meri jindgi ka ... ek aur kahani likh raha hai...
kal tak naam tha sirf dosti...aaj wo meri dhakanoo ki ravani likh raha hai ....

Adams Kevin said...

म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
ठीक।